छोटी उम्र में बड़ा कारनामा, लड़की और शख्स के गाने पर झूम रहे म्यूजिक लवर्स,जनिये

छोटी उम्र में बड़ा कारनामा
 | 
1

File photo

छोटी उम्र में बड़ा कारनामा, लड़की और शख्स के गाने पर झूम रहे म्यूजिक लवर्स

म्यूजिक लवर्स के बीच इन दिनों Coke Studio के 14वें सीजन का पॉपुलर गाना 'पसूरी' (Pasoori) छाया हुआ है. जल्द ही ये गाना 100 मिलियन व्यूज पूरे करने वाला है. 'पसूरी' को पाकिस्तानी सिंगर अली सेठी (Ali Sethi) और शे गिल (Shae Gill) ने गाया है, जो अपनी आवाज का जादू चलाकर सबके बीच छा चुके हैं. इस वक्त हर कोई इन दोनों सिंगर्स के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानना चाहता है. चलिये फिर देर किस बात. अली सेठी और शे गिल के बारे में डिटेल में जान लेते हैं.

'पसूरी' जैसे गाने को 100 मिलियन व्यूज के करीब पहुंचाने वाली शे गिल महज 23 साल की हैं. छोटी उम्र में बड़ा कारनामा करने वाली शे पाकिस्तानी सिंगर हैं, जिनका असली नाम अनुषा गिल है. शे को बचपन से ही म्यूजिक से खास लगाव रहा है. लाहौर के फॉर्मन क्रिश्चियन कॉलेज से पढ़ाई करने वाली शे हॉस्टल में बेस्ट फ्रेंड के रूम में गाना गाया करती थीं. दोस्त के मोटिवेट करने पर ही उन्होंने इंस्टाग्राम अकाउंट बनाया और वहां मस्ती-मस्ती में अपने म्यूजिक वीडियो अपलोड करती रहती थीं. 2019 में शे ने अपना पहला पोस्ट शेयर किया, जिसे लोगों ने खूब पसंद किया और उनका हौसला बढ़ाया.

एक दिन उन्हें कोक स्टूडियो के प्रोड्यूसर Xulfi ने गाने का ऑफर दिया और शे ने खुशी-खुशी ये ऑफर मंजूर भी कर लिया. रातों-रात इतनी शोहरत पाने वाली शे अपनी कामयाबी से खुश हैं. एक इंटरव्यू के दौरान शे ने कहा कि ए आर रहमान उनके फेवरेट सिंगर हैं और आगे चलकर उनके साथ काम करना चाहती हैं.

अब आते हैं अली सेठी पर. अली सेठी ने 'पसूरी' सॉन्ग को सिर्फ गाया ही नहीं, बल्कि फजल अब्बास के साथ गाने को लिखा भी है. पसूरी एक पंजाबी शब्द है, जिसका मतलब 'कश्मकश' होता है.

37 साल के अली सेठी पाकिस्तान के जाने-माने सिंगर हैं, जिनकी आवाज का जादू हिंदुस्तान में भी चलता है. वो एक सिंगर होने के साथ-साथ म्यूजिक कंपोजर और राइटर भी हैं. 2012 में अली सेठ 'दिल जलाने की बात' गाना गाकर सुर्खियों में आये थे.

सिंगर का जन्म लाहौर में हुआ था. उनके पेरेंट्स नजम सेठी और जुगनू मोहसिन पेशे से पत्रकार होने के साथ-साथ राजनीति में भी एक्टिव हैं. अली सेठी ने इंटरनेशनल स्कूल ऑफ चौइफत और एचिसन कॉलेज से अपनी पढ़ाई पूरी की है. उन्हें बचपन से ही कविता, राजनीति और संगीत में खास रूचि रही. अली सेठी के इंस्टाग्राम पर 307K फॉलोअर्स हैं, जिसे देख कर पता चलता है कि वो समाजिक तौर पर भी काफी एक्टिव हैं. पसूरी से अली पहले 'चांदनी रात', 'रंजिश ही सही', 'दिल की खैर', 'माही मेरा', 'हाल ऐसा नहीं', 'पहला कदम', और 'गुलो में रंग' जैसे खूबसूरत गाने भी गा चुके हैं. सोशल मीडिया सेंसेशन बन चुकीं उर्फी जावेद भी अली सेठी की बहुत बड़ी फैन हैं. इतना सब जान लिया अब ये बताइये कि आपने पसूरी गाना सुना या नहीं?