लापरवाही पर बड़ी कार्रवाई, लिपिक सहित 6 तत्काल प्रभाव से निलंबित,5 को नोटिस जारी -

6 तत्काल प्रभाव से निलंबित,5 को नोटिस जारी -
 
 | 
1

File photo

लापरवाही पर बड़ी कार्रवाई, लिपिक सहित 6 तत्काल प्रभाव से निलंबित,5 को नोटिस जारी -

साथ ही सीएमओ का कहना है कि एआरआई वर्मा मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान में ड्यूटी होने के बाद भी जनसेवा केंद्र से अनुपस्थित थे।

भोपाल । मध्यप्रदेश में लापरवाह अधिकारी कर्मचारियों पर निलंबन की कार्रवाई जा रही है। दरअसल आलमपुर नगर परिषद इन दिनों सुर्खियों में है। दरअसल 10 सितंबर को CMO ने ARI को शो कॉज नोटिस दिया था। वही 12 सितंबर को जवाब देते हुए ARI ने सीएमओ पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। जिसके साथ ही शनिवार को ARI दिलीप वर्मा को निलंबित कर दिया गया। 17 सितंबर को पीएम नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस पर मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान के तहत आलमपुर में दो आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए शिविर का आयोजन किया गया था।

जिसमें ARI दिलीप वर्मा की ड्यूटी लगाई गई थी। दिलीप वर्मा शिविर में मौजूद थे इसकी तस्वीर भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। हालांकि सीएमओ अमजद घणी द्वारा दिलीप वर्मा को निलंबित करने के आदेश जारी कर दिए हैं। साथ ही सीएमओ का कहना है कि एआरआई वर्मा मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान में ड्यूटी होने के बाद भी जनसेवा केंद्र से अनुपस्थित थे। जिसके बाद उन्हें पीओ डूडा के निर्देश पर निलंबित किया गया है।

एक अन्य कार्रवाई सतना जिले में की गई है। जहां जवाहर नगर स्थित आवास से बालक छात्रावास के चार बच्चे बिना बताए कहीं भाग निकले हैं। प्रशासन को इस खबर की जानकारी मिलने के साथ ही बच्चों की तलाश शुरू कर दी गई है। हालांकि पुलिस को अभी तक इस संबंध में कोई जानकारी हाथ नहीं लगी है। इस मामले में लापरवाही बरतने पर वार्डन और माध्यमिक शाला प्रेम नगर के प्रधानाध्यापक सुखेंद्र सिंह को निलंबित कर दिया गया है और चौकीदार शुभम सिंह पटेल को बर्खास्त करने संबंधित आदेश भी जारी कर दिए गए हैं। यह कार्रवाई जिला कलेक्टर अनुराग वर्मा द्वारा की गई है।

वहीं एक अन्य कार्रवाई सतना जिले में की गई है। जहां सहायक उपनिरीक्षक और फरियादी के बीच का ऑडियो वायरल होने के बाद सतना एसपी आशुतोष गुप्ता ने एएसआई को निलंबित कर दिया है।साथ ही एसपी ने मामले की जांच के लिए डीएसपी हेडक्वार्टर रामपुर थाना प्रभारी को निर्देश दिए हैं।

बता दे 2 दिन पहले एएसआई रमेश मिश्रा का ट्रांसफर रामपुर से जैतवारा के लिए किया गया था।एएसआई और परी के बीच बातचीत का ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। जिसमें एएसआई द्वारा रिश्वत मांगने का मामला उनके संज्ञान में आया। वही ऐसी भी नहीं टीम गठित कर जांच के निर्देश दिए। साथ ही एएसआई को निलंबित करने के आदेश जारी कर दिए हैं।

एक अन्य कार्रवाई धार जिले में की गई है जहां टीआई और चौकी प्रभारी को निलंबित कर दिया गया है। कुछ घंटे पहले दोनों अधिकारियों को लाइन अटैच किया गया था। वहीं अधिकारियों को निलंबन के आदेश जारी कर दिए गए हैं। ट्रक को रोकने पर आई स्कॉर्पिओ के साथ दो और वहां थे। जिसमें कई लोग सवार थे। इस मामले में जांच शुरू की गई है। साथ ही घटनाक्रम को लेकर एसपी द्वारा एसआईटी टीम गठित की गई है। टीआई और चौकी प्रभारी की कार्यप्रणाली भी संदेह के घेरे में आ रही है। जिसके बाद एसपी ने दोनों को निलंबित कर दिया है और एसडीएम के साथ हुए घटनाक्रम में जांच के निर्देश दिए गए हैं।

एक अन्य कार्रवाई बेतूल जिले में की गई है जहां नगरीय निकाय चुनाव जैसे महत्वपूर्ण कार्य में लापरवाही बरतने पर एक लिपिक को निलंबित कर दिया गया।जिसके मद्देनजर नगरीय निकाय चुनाव को देखते हुए कलेक्टर एसपी ने शुक्रवार को मतदान केंद्र और स्ट्रांग रूम का निरीक्षण किया। वहीं लापरवाही बरते जाने पर मुख्य नगरपालिका अधिकारी सारणी ने परिषद के एक लिपिक जीएस पांडे को निलंबित कर दिया है। इस संबंध में आदेश जारी करने के लिए कहा गया रिटर्निंग ऑफिसर नगर पालिका परिषद सारणी के आदेश द्वारा लिप्स पांडे को शाम 4:00 बजे से रात्रि 10:00 बजे तक टीवी कंप्यूटर सेल में रहने के निर्देश दिए गए थे लेकिन वह समय सीमा के भीतर कार्यालय में उपस्थित नहीं हुए। कार्य में लापरवाही के कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था लेकिन जबाव प्रस्तुत किए जाने पर उनपर निलंबन की कार्रवाई की गई है। साभार एमपी ब्रेकिंग।