ठगी : कोरोना के बूस्टर डोज के नाम ठगी, पुलिस कमिश्नर का लोगों को सुझाव

 कोरोना के बूस्टर डोज के नाम ठगी
 | 
photo

File photo

कोरोनावायरस के नाम पर ऑनलाइन ठगी से परेशान हुआ इंदौर। पुलिस कमिश्नर ने लोगों से सतर्क रहने की अपील।

इंदौर : कोरोनावायरस के नाम पर ठगी करने वाले फिलहाल बाज नहीं आ रहे हैं। जहां एक और लोग कोरोनावायरस से परेशान हो रहे हैं, वहीं दूसरी ओर लोग इसी बीमारी के नाम पर कालाबाजारी और ठगी करके पैसा ऐंठने के चक्कर में लगे हुए हैं।

कोरोना के बूस्टर डोज के नाम पर ऑनलाइन हैकर काफी सक्रिय हो गए हैं। शिकायते अब पुलिस तक पहुंच रही हैं। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना के बूस्टर डोज के नाम पर ऑनलाइन ठगी और इलाज की दवाइयों की कालाबाजारी ज़ोर शोर से चल रहा है।

डुप्लीकेट दवाइयां बेचने और हैकर और ठगोरो द्वारा लिंक या फोन के द्वारा ओटीपी की मांग के बाद लुट की शिकायत लगातार थानों पर आ रही है। ऐसे हैकर्स को काबू करने के लिए अब पुलिस और साइबर क्राइम सेल एक्टिवेट हो चुका है। इस बारे में कमिश्नर ऑफ पुलिस हरिनारायणचारि मिश्रा ने सख्त कार्यवाही के निर्देश देते हुए लोगों को और अधिक सावधान रहने की हिदायत दी।

कमिश्नर के आदेश अनुसार मध्यप्रदेश के सबसे बड़े दवा बाजार और निजी अस्पतालों और सरकारी अस्पतालों पर पुलिस की टीम तैनात कर नजर रखी जा रही है।

गौरतलब है कि कोरोना की दूसरी लहर में इंदौर पुलिस ने नकली रेमडेसिविर की काला बाजारी करने वालों को जेल भेजा था। इंदौर पुलिस ने एक बड़े रैकेट का खुलासा किया था।

कमिश्नर ऑफ पुलिस इंदौर हरिनारायणचारि मिश्रा ने बताया कि बूस्टर डोज हो या अन्य सायबर क्राइम पुलिस किसी को भी नहीं छोड़ेगी ऐसे में लोगों से निवेदन है कि वे और अधिक सतर्क और सावधान रहें। कोरोनावायरस की तीसरी लहर के अंदेशे के बीच इंदौर एक बार फिर रेड अलर्ट पर है।