Home मध्यप्रदेश भोंपाल मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा श्री बंकिमचंद्र चटर्जी को श्रद्धांजलि अर्पित

मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा श्री बंकिमचंद्र चटर्जी को श्रद्धांजलि अर्पित

भोपाल : गुरूवार, 08 अप्रैल 2021

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज मुख्यमंत्री निवास पर वंदेमातरम् गीत के रचयिता श्री बंकिमचंद्र चटर्जी की पुण्यतिथि पर उनके चित्र पर माल्यार्पण कर विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बंकिम चन्द्र चटर्जी बंगला साहित्य के महान कवि और उपन्यासकार होने के साथ-साथ एक प्रसिद्ध पत्रकार भी थे। उन्होंने न सिर्फ बंगला भाषा में आधुनिक साहित्य की शुरुआत की बल्कि बंगला साहित्य को नई ऊँचाईयों तक पहुँचाने का काम किया। वे अपनी रचना ‘वंदे मातरम्’ के लिए बहुत प्रसिद्ध हुए। उनके द्वारा लिखा गया यह राष्ट्रगीत आज भी जन-जन में देश प्रेम की भावना विकसित करता है।

उनका प्रथम बांगला उपन्यास दुर्गेश नंदिनी था। कपाल कुण्डला सबसे चर्चित उपन्यास रहा। उन्होंने मासिक पत्रिका बंग दर्शन का प्रकाशन भी किया। बंकिम चन्द्र चटर्जी का सबसे चर्चित उपन्यास ‘आनंदमठ’ 1882 में प्रकाशित हुआ, जिससे प्रसिद्ध गीत ‘वंदेमातरम्’ लिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

मध्यप्रदेश कोरोना अपडेट शुक्रवार 23 अप्रैल 2021

भोपाल मध्यप्रदेश सम्पूर्ण मध्यप्रदेश का कोरोना अपडेट शुक्रवार 23 अप्रैल 2021

रेमडेसिविर और ऑक्सीजन की आपूर्ति निर्बाध रूप से जारी: मुख्यमंत्री श्री चौहान

भोपाल : शुक्रवार, 23 अप्रैल 2021 मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि राज्य सरकार कोरोना मरीजों के...

किल कोरोना अभियान-2 घर-घर जाकर होगी कोरोना मरीजों की पहचान: स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी 24 अप्रैल से 9 मई तक चलेगा अभियान

भोपाल : शुक्रवार, 23 अप्रैल 2021 स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने बताया कि 24 अप्रैल से 9 मई...

नीमच में 17 घण्टे में 14 मौत,10 का दाह संस्कार, 4 को किया सुपुर्द ए ख़ाक

कोरोना की क्रूरता की इंतहा हो गई है। कोरोना से होने वाली मौतों का सिलसिला नीमच में भी रुकने के नाम नहीं...
All countries
145,834,321
Total confirmed cases
Updated on April 23, 2021 5:17 pm

Recent Comments

Open chat
1
सहारा समाचार, आपके परेशानियों के साथ है,आप आवश्यकता पड़ने पर, हमारा सहयोग ले सकते है। धन्यवाद