मासूम 2 पुत्रियां व 1 पुत्र को फांसी के फंदे पर लटकाया, माँ ने खुद फांसी लगाकर की आत्महत्या -

महिला ने तीन बच्चों के साथ की ख़ुदकुशी, इलाके में मचा हड़कंप -
 
 | 
1

File photo

2 पुत्रियां व 1 पुत्र को फांसी के फंदे पर लटकाया, माँ खुद ने भी फांसी लगाकर की आत्महत्या -

रतलाम। राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले के कपासन थाना क्षेत्र के ग्राम कछिड़ाखेड़ी में एक पोल्ट्री फार्म परिसर में रतलाम जिले के शिवगढ़ थाना क्षेत्र के ग्राम घोड़ापल्ला निवासी एक महिला ने पहले अपने तीन मासूम बच्चों (दो पुत्रियां व एक पुत्र) को फांसी के फंदे पर लटकाया। इसके बाद खुद ने भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बच्चों की हत्या करके खुद के फांसी लगाने का कारण पता नहीं चल पाया है। कपासन पुलिस मामले की जांच कर रही है।

कपासन थाना के एएसआइ सुभाष यादव ने नईदुनिया से दूरभाष पर चर्चा में बताया कि भूरालाल निवासी ग्राम घोड़ापल्ला थाना शिवगढ़ (रतलाम, मध्यप्रदेश) ग्राम कछियाखेड़ी में आरएनटी कालेज के पास स्थित पाेल्ट्रीफार्म में नाैकरी करता है। वह अपनी पत्नी 28 वर्षीय रूपा ने बड़ी पुत्री सात वर्षीय शिवाना, छह वर्षीय पुत्र रितेश व तीन वर्षीय किरण के साथ गांव में रहता है। बुधवार रात भूरालाल दूध लेने बाजार गया था।

वहां से रात करीब साढ़े नौ बजे वापस लौटा तो तीनों बच्चे व पत्नी फांसी के फंदों पर लटके हुए थे। उसने आसपास के लोगों को बुलाया व पुलिस को भी सूचना दी गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच की व चारों के शव पोस्टमार्टम के लिए कपासन के सरकारी अस्पताल भिजवाये। भेरूलाल के स्वजन व रूप के मायके वालों को भी सूचना दी गई। वे गुरुवार दोपहर करीब तीन बजे अस्पताल पहुंचे। चारों के शवों का पोस्टमार्टम मेडिकल बोर्ड की टीम से कराया जाएगा।

पहले बड़ी बेटी, फिर बेटे व छोटी बेटी को फांसी के फंदे पर लटकाया, पुलिस के अनुसार आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे चेक किए गए है। कैमरों के फुटेज के अनुसार रूपा ने पोल्ट्रीफार्म के टीन शेड पर लगे पाइप पर रस्सी से फंदा बांधा और पहले बड़ी बेटी शिवानी को फांसी के फंदे पर लटकाया, इसके बाद छोटे बेटे रितेश को भी लटका दिया। इसके बाद सबसे छोटी बेटी किरण को भी फंदे पर लटकाया और उसके बाद खुद भी फंदे पर लटक गई।

भेरूलाल करीब सात वर्ष से पोल्ट्रीफार्म पर पत्नी व बच्चों के साथ रहकर वहां नौकरी कर रहा है। उसे वहां रहने के लिए दो कमरे दिए गए। सूत्रों के अनुसार भेरूलाल व उसकी पत्नी रूप व बच्चे अच्छे से रहते थे। आसपास के लोगों ने पुलिस को बताया कि उनके बीच कभी किसी ने झगड़ा होते नहीं देखा। उधर, भेरूलाल ने पुलिस को बताया कि उसे भी पता नहीं कि रूपा ने यह कदम क्यों उठाया। उनके बीच कभी विवाद नहीं हुआ। हां, वह कभी-कभी शराब पी लेता था। रूपा को शराब पीना पसंद नहीं था, लेकिन इसे लेकर भी उनके बीच कभी कोई विवाद नहीं हुआ। अचानक रूपा ने यह कदम क्यों उठाया, यह जांच के बाद ही पता चल पाएगा। जनता से रिश्ता।